क्या आप भी ताजमहल का नाम बदलकर 'राम महल' कर देंगे? योगी आदित्यनाथ से पूछा था सवाल, ऐसा मिला जवाब
Will you also change the name of Taj Mahal to 'Ram Mahal'?
Spread the love

एक इंटरव्यू के दौरान उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से ताजमहल का नाम बदलने को लेकर सवाल किया गया। इसके जवाब में उन्होंने कुछ ऐसा कहा.

उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव नजदीक आने के साथ ही सियासी घमासान भी तेज होता जा रहा है. हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी काशी विश्वनाथ पहुंचे थे. इसके साथ ही उन्होंने अपने संसदीय क्षेत्र में चल रहे विकास कार्यों का भी निरीक्षण किया. इस पूरी यात्रा के दौरान उनके साथ यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी नजर आए। पीएम मोदी के दो दिवसीय दौरे को लेकर अखिलेश यादव का एक कमेंट भी काफी चर्चा में रहा था.

बीजेपी नेताओं ने अखिलेश यादव पर पलटवार करते हुए कहा कि उन्होंने प्रधानमंत्री का अपमान किया है. अखिलेश ने सफाई देते हुए कहा कि मैं योगी सरकार के अंत की बात कर रहा था. सियासी घमासान के बीच सीएम योगी आदित्यनाथ का ‘इंडिया टीवी’ से एक पुराना इंटरव्यू वायरल हो रहा है. इस इंटरव्यू में योगी आदित्यनाथ से सवाल पूछा गया था, ‘अगर आपकी सोच विदेशी नाम बदलने की है तो क्या आप ताजमहल का नाम भी बदलकर राम महल कर देंगे?’

इसके जवाब में योगी आदित्यनाथ ने कहा था, ‘अगर इस तरह का काम किसी विदेशी आक्रमणकारियों ने किसी भी काल में किया है, तो उसे तुरंत बदला जाना चाहिए. क्योंकि यह देश की सांस्कृतिक स्वतंत्रता की लड़ाई भी है। ऐतिहासिक स्थलों के नाम भी रखे जाने चाहिए जिनके नाम पर इस देश की पहचान होनी चाहिए। जहां तक ​​ताजमहल की बात है तो हम इसका नाम राममहल क्यों नहीं रखेंगे? जरूरत पड़ने पर इसका नाम भी बदला जाएगा। शाहजहां ने मुमताज के लिए ताजमहल बनवाया या नहीं यह जांच का विषय है।

योगी आदित्यनाथ आगे कहते हैं, ‘कोई विरासत नहीं है जिसने हमें ऐसे नाम दिए हैं। जो भी चीजें देश हित में होंगी, हमें तुरंत वो कदम उठाने चाहिए। हमें ऐसे कदम उठाते वक्त सोचना भी नहीं चाहिए। हमें ऐसे कदम उठाने के बारे में सोचना भी नहीं चाहिए। जब आप गोरखपुर आएंगे तो देखेंगे कि जब कोई मुसलमान पीड़ित होता है तो वह कहीं और नहीं जाता, वह मेरे पास ही आता है। अखिलेश सरकार से जो भी पीड़ित होता है, वह मेरे पास भी आता है. मैं जनता के लिए समय निकालता हूं।

कैसे माफ करेंगे किसानों का कर्ज? इसके जवाब में उन्होंने कहा, ‘हमने काफी चीजों को बैलेंस भी किया था। पिछली सरकार में जिन चीजों पर सबसे ज्यादा खर्च होता था, उन सब चीजों पर रोक लगाने का काम हमने किया था। पहले मंत्री और अधिकारी विदेश यात्रा के लिए जाते थे, लेकिन हमने इन सभी चीजों को तुरंत रोक दिया। हमने कहा कि आप लोग अपने-अपने क्षेत्र में जाकर अपने क्षेत्र की समस्याओं को दूर करने का काम करें।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.