हापुड़ गढ़मुक्तेश्वर : भ्रष्ट लेखपाल का मामला हापु़ड़ से निकलकर लखनऊ तक पंहुचेगा

hapur news
Spread the love

हापुड़ गढ़मुक्तेश्वर में भ्रष्टाचार चरम पर है बीते 3 सप्ताह पहले ews  बनवाने के लिए एक लेखपाल और उसके सहयोगी द्वारा हजार रुपए की रिश्वत लेने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था जिसमें लेखपाल का चेहरा साफ दिखाई दे रहा है ! इसकी शिकायत विश्व हिंदू महासंघ हापु़ड़  के जिला अध्यक्ष नीरज शर्मा ने प्रशासन को की ! शिकायत मिले तीन हफ्ते हो चुके हैं सभी अधिकारी जांच करने के बाद कार्रवाई की बात कर रहे हैं ! लगभग तीन सप्ताह बीत जाने के बाद भी घूसखोरी लेखपाल के खिलाफ कोई कार्यवाही प्रशासन द्वारा नहीं की गई !

कहीं ना कहीं लगता है की जांच की आड़ में घुसकर लेखपाल को बचाने की कोशिश की जा रही है क्योंकि अगर जांच सही ढंग से की गई तो इसमें बड़े अधिकारियों की गर्दन भी फस सकती है जिसकी वजह से घूसखोरी लेखपाल को बचाने की कोशिश की जा रही है और प्रशासनिक अधिकारी लीपा पोती करने में लगे पड़े

hapur news

योगी सरकार की भ्रष्टाचार पर जीरो टॉलरेंस की नीति का खुलेआम चीर हरण जनपद हापुड़ में प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा किया जा रहा है दोषी लेखपालों द्वारा लगातार नौकरी करके आम जनता को यह संदेश दिया जा रहा है कि उनका भ्रष्टाचार के मामले में कुछ भी नहीं हो सकता क्योंकि उन्हें बड़े अधिकारियों एवं कुछ सफ़ेदपोश नेताओं का आशीर्वाद प्राप्त हैं !

आजाद अधिकार सेना हापुड़ और विश्व हिंदू महासंघ हापु़ड़ से जुड़े संगठन के लोग का कहना है की हमने लगातार मामले में कार्रवाई के लिए संघर्ष किया गया और आगे भी किया जाएगा पर कहीं ना कहीं प्रशासन भ्रष्टाचारियों पर पूरी तरह से मेहरबान दिखाई दे रहा है और उत्तर प्रदेश सरकार की भ्रष्टाचार पर जीरो टॉलरेंस नीति जिसका गुणगान सरकार के द्वारा समय-समय पर किया जाता है उसका खुला मज़ाक हापु़ड़ के प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा बनाया जा रहा है ! इस मामले में अब तक दोनों संगठन की तरफ से सबसे पहले उपजिलाधिकारी गढ़मुक्तेश्वर,  जिला अधिकारी हापु़ड़ और कमिश्नर मेरठ को लिखित में शिकायत पत्र दिया गया

जिलाधिकारी की तरफ से मामले की जांच अपरजिलाधिकारी संदीप कुमार र०वि० से करवाई जा रही है जिसमें दोनों संगठनों के जिलाध्यक्षों के द्वारा 12 जनवरी 2024 को अपने बयानों को साक्ष्य के साथ दर्ज कराया गया ! जिसमें तहसीलदार गढ़मुक्तेश्वर सीमा सिंह की आडियो दोषी लेखपाल योगेन्द्र कुमार एवं प्राईवेट कर्मचारी की विडियो भी दी गई पर आजतक किसी भी कार्यवाही का कुछ भी पता नहीं चला जिससे नाराज़ दोनों संगठनों के जिलाध्यक्षों द्वारा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात करने का निर्णय लिया गया है ! अब यह मामला हापु़ड़ से निकलकर लखनऊ तक पंहुचेगा इस मामले में दोषियों पर कड़ी कार्रवाई होना लगभग तय है क्योंकि शिकायत कर्ता के पास दोषियों के खिलाफ पर्याप्त सबूत (साक्ष्य) उपलब्ध है ! प्रशासन के द्वारा पूरे मामले में लीपापोती की कोशिश की जा रही हैं जिससे भ्रष्टाचारियों के हौसले बुलंद दिखाई दें रहें हैं

विश्व हिंदू महासंघ हापु़ड़ से जुड़े संगठन के लोग का कहना है की रिश्वत खोर लेखपाल पर जब तक कार्यवाही नहीं होते तब तक मामले को दबने नहीं देंगे संगठन के लोग जल्द ही इस मामले को लेकर योगी आदित्यनाथ जी मुलाकात करने की तयारी कर रहे है!

वीडियो 


Spread the love