स्वामी प्रसाद मौर्य : भारत-पाक बंटवारे के लिए जिन्ना नहीं हिन्दू महासभा जिम्मेदार

समाजवादी पार्टी (सपा) नेता स्वामी प्रसाद मौर्य ने एक बार फिर विवादित बयान दिया है। स्वामी प्रसाद ने कहा, भारतीय संविधान कहता है कि धर्म, जाति, लिंग या जन्म स्थान के आधार पर किसी के साथ भेदभाव नहीं किया जा सकता… अगर कोई हिंदू राष्ट्र की बात करता है तो दूसरे धर्म के लोग ऐसा क्यों नहीं कर सकते? जो लोग हिंदू राष्ट्र की बात करते हैं वे देश के दुश्मन हैं।

सपा नेता ने आगे कहा, हिंदू महासभा ने बहुत पहले हिंदू राष्ट्र की बात की थी जिसके परिणामस्वरूप भारत और पाकिस्तान का निर्माण हुआ। भारत और पाकिस्तान का बंटवारा जिन्ना की वजह से नहीं हुआ था, उनका बंटवारा इसलिए हुआ था क्योंकि हिंदू महासभा ने दो राष्ट्रों की मांग की थी.

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव स्वामी प्रसाद मौर्य ने अयोध्या में रामलला की जान लेने को विश्वासघात बताया था. उन्होंने कहा कि जिसकी पूजा करोड़ों लोग करते हों, उसके जीवन का सम्मान करने के लिए कोई क्या करेगा। स्वामी रविवार को आयोजित राष्ट्रीय बौद्ध महोत्सव में हिस्सा लेने आये थे.

राजकीय इंटर कॉलेज मैदान में स्वामी प्रसाद मौर्य ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, नितिन गडकरी और संघ प्रमुख मोहन भागवत हिंदुत्व को जीवन जीने की कला कहते हैं। जब हमने ये कहा तो पूरे देश में हंगामा मच गया. आज विचारों की लड़ाई है. देश में पाखंड चलेगा या विज्ञान?