Hapur News – जेपी नड्डा की सभा में लगे होर्डिंग उखाड़ ले गई पब्लिक, बोली- सिलेंडर हो गया महंगा, चूल्हा जलाने के काम आएगी लकड़ी

देश में बढ़ती महंगाई और ईंधन की कीमतों में इजाफे को लेकर केंद्र की भाजपा सरकार को विपक्ष के कड़े विरोध का सामना करना पड़ रहा है। हालांकि इधर सरकार ने कीमतों में कुछ कमी की है, जिसकी वजह से लोगों को थोड़ी राहत मिली है।

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव को लेकर नेताओं के दौरे और सभाएं तेज हो गई हैं। कई जगह भारी भीड़ जुट रही है तो कई जगह नेताओं को विरोध का भी सामना करना पड़ रहा है। यूपी के हापुड़ में मंगलवार को भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा की सभा में अजीब स्थिति पैदा हो गई। सभा में उनको सुनने आए लोगों में से कुछ लोगों ने वहां पर लाखों रुपये खर्च कर बनवाए गए होर्डिंग्स को उखाड़ दिए और उसे यह कहकर घर ले जाने लगे कि इसकी लकड़ियां चूल्हे में जलाने के काम आएंगी, क्योंकि गैस सिलेंडर की कीमतें काफी बढ़ गई हैं। इस दौरान किसी ने उन्हें ऐसा करने से रोका नहीं और वे बेखौफ होकर उसको उखाड़ते रहे।

देश में बढ़ती महंगाई और ईंधन की कीमतों में इजाफे को लेकर केंद्र की भाजपा सरकार को विपक्ष के कड़े विरोध का सामना करना पड़ रहा है। हालांकि इधर सरकार ने कीमतों में कुछ कमी की है, जिसकी वजह से लोगों को थोड़ी राहत मिली है।

hapurnews

इससे पहले सभा को संबोधित करते हुए नड्डा ने सरकार की उपलब्धियां गिनाईं और विपक्षी दलों पर जमकर कटाक्ष किये। कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ‘सबका साथ सबका विकास’ के नारे को चरितार्थ किया है। उन्होंने कहा, ”वर्ष 2022 के चुनाव में आपको राम भक्तों पर गोली चलाने वाली सरकार चाहिए या राम मंदिर बनाने वाली सरकार, यह फैसला आपको करना है।”

भाजपा अध्यक्ष ने ऐतिहासिक कार्तिक पूर्णिमा गढ़ गंगा मेले को राजकीय मेला घोषित करने और हापुड़ जनपद में मेडिकल कॉलेज खोले जाने के लिए मुख्यमंत्री की प्रशंसा की। नड्डा ने कहा कि पिछले 70 सालों से कई पार्टियां सत्ता में आईं लेकिन किसी ने जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 हटाने की हिम्मत नहीं की। उन्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार की इच्छा शक्ति से ही यह संभव हो सका है।

बदायूं में पार्टी की जन विश्वास यात्रा के तहत एक जनसभा में समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष एवं प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव पर निशाना साधा। भाजपा नेता ने कहा, ‘‘हमने जन विश्वास यात्रा निकाली है लेकिन अखिलेश यादव झांसा यात्रा निकाल रहे हैं।’’ नड्डा ने आरोप लगाया, ’’हम जन-विश्वास यात्रा के माध्यम से जन-जन तक पहुंच रहे हैं लेकिन अखिलेश यादव ‘झांसा यात्रा’ निकाल रहे हैं। वह बीच में कभी-कभी यात्रा में निकलते हैं, फिर ’क्वारंटाइन’ हो जाते हैं। वह इसी तरह की यात्रा – माफिया यात्रा, दंगों को याद दिलाने वाली यात्रा, बाहुबलियों को साथ लेकर चलने वाली यात्रा- निकाल सकते हैं।’’

उन्होंने कहा, ‘‘अखिलेश जी जवाब दीजिए,जब आप मुख्यमंत्री थे तब आपने 15 आतंकवादियों को छोड़ने के लिए निवेदन किया था लेकिन वे छूट नहीं पाए, क्योंकि अदालत ने उन्हें रिहा नहीं किया।’’ भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि अदालत ने इनमें से चार आतंकवादियों को फांसी की सजा और 11 आतंकवादियों को आजीवन कारावास की सजा सुनाई थी।

भाजपा अध्यक्ष ने मुजफ्फरनगर दंगों को लेकर भी तत्कालीन सपा सरकार की आलोचना की। उन्होंने कहा कारसेवकों पर गोलियां चलाए जाने की घटना का जिक्र करते हुए कहा, ”आजकल मुझे बड़ी खुशी होती है कि जो लोग कारसेवकों पर गोली चलवा रहे थे, वे आजकल मंदिरों में जाकर घंटी बजा रहे हैं।” नड्डा ने भाजपा के शासन के दौरान किये गये विकास कार्यों को भी गिनाया और सपा अध्यक्ष पर प्रहार करते हुए कहा, ‘‘हम लोग गन्ना की बात करते हैं तो अखिलेश यादव को जिन्ना (मोहम्मद अली जिन्ना) याद आते हैं।’’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *