​​​​​​​कानपुर न्यूज़ : चेकिंग के लिए रोकी कार तो आईडी कार्ड दिखाकर रौब गांठने लगा बाद में हुआ खुलासा
Spread the love

कानपुर में फर्जी आयकर अधिकारी गिरफ्तार किया गया है. बुधवार शाम पुलिस चेकिंग कर रही थी। तभी एक कार रुकी. फिर जब उन्होंने उसकी जांच करनी चाही तो युवक आयकर विभाग का आईडी कार्ड दिखाकर पुलिस पर रौब गांठने लगा।

एसीपी ने उसका नाम पूछा तो वह सकपका गया। पुलिस को उस पर शक हो गया. फिर जब पुलिस ने जांच की तो आईडी कार्ड फर्जी निकला. फिलहाल पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया है. रावतपुर थाना पुलिस उससे पूछताछ कर रही है।

आईडी कार्ड पर इनकम टैक्स ऑफिसर लिखा हुआ था

एसीपी कल्याणपुर अभिषेक पांडे ने बताया, ”रावतपुर थाने की पुलिस मसवानपुर चौराहे पर चेकिंग कर रही थी. इसी दौरान पुलिस को एक कार आती दिखी. जिसमें नंबर प्लेट के ऊपर एक बड़ी नेम प्लेट लगी थी, जिस पर आयकर विभाग, भारत सरकार का नाम लिखा हुआ था. लिखा हुआ था। पुलिस ने कार को चेकिंग के लिए रोका तो कार से कुछ बरामद नहीं हुआ। लेकिन जांच में पता चला कि पकड़ा गया युवक फर्जी आयकर अधिकारी है।

kanpur news

पूछताछ में युवक ने अपना नाम रितेश शर्मा निवासी कल्याणपुर महाबीरपुरम नई बस्ती बताया। उनके आईडी कार्ड पर इनकम टैक्स ऑफिसर लिखा हुआ था. पुलिस ने जांच की तो पता चला कि इस नाम का कोई आयकर अधिकारी ही नहीं है. इसके बाद जब पुलिस ने उससे सख्ती से पूछताछ की तो वह टूट गया और अपना जुर्म कबूल कर लिया.

आयकर विभाग में चयन के नाम पर घर से लाखों रुपये ले लिये गये

रितेश शर्मा ने बताया कि उन्होंने अपने परिवार से झूठ बोला था कि उनका चयन आयकर विभाग में हो गया है. इसी आधार पर उन्होंने परिवार से पैसे लेकर नई कार खरीदी थी. एसीपी के मुताबिक, आरोपी के परिजनों को थाने बुलाया गया. उनसे भी पूछताछ की गई है.

एसीपी के मुताबिक आरोपी के खिलाफ धोखाधड़ी, फर्जी दस्तावेज तैयार करने समेत गंभीर धाराओं में रिपोर्ट दर्ज की गई है। गुरुवार को उसे कोर्ट में पेश करने के बाद जेल भेजा जायेगा. आखिर रितेश के फर्जी इनकम टैक्स अधिकारी बनने का मकसद क्या था? क्या उसने खुद को आयकर अधिकारी बताकर पैसे वसूले थे? उसकी पारिवारिक पृष्ठभूमि क्या है? परिवार के अन्य सभी सदस्य क्या करते हैं? पुलिस इन सभी सवालों के जवाब तलाश रही है.


Spread the love