चंडीगढ़ नगर निगम चुनाव: आप 14 सीटों पर आगे, बीजेपी के खाते में 12 सीटें; तीसरे नंबर पर कांग्रेस
चंडीगढ़ नगर निगम चुनाव
Spread the love

चंडीगढ़ निगम चुनाव में आम आदमी पार्टी के उम्मीदवार ने मौजूदा मेयर को हराया है। इस चुनाव में आप पहली बार मैदान में उतरी थी।

पंजाब विधानसभा चुनाव से पहले हुए चंडीगढ़ निगम चुनाव में आम आदमी पार्टी ने बड़ा बदलाव किया है। केजरीवाल के उम्मीदवार ने वहां के मौजूदा मेयर को हराया है. इस चुनाव में बीजेपी बैकफुट पर दिख रही है और पंजाब में सत्ताधारी पार्टी कांग्रेस तीसरे नंबर पर है.

नतीजों के मुताबिक केजरीवाल की पार्टी आप ने 35 में से 14 सीटों पर जीत हासिल की है. जबकि बीजेपी को 12 सीटें मिली हैं. वहीं, कांग्रेस को आठ और शिरोमणि अकाली दल को एक सीट मिली है. इस जीत के बाद केजरीवाल ने ट्वीट किया और कहा- ‘चंडीगढ़ नगर निगम में आप की जीत पंजाब में बदलाव का संकेत देती है। लोगों ने भ्रष्ट राजनीति को खारिज कर आप को चुना है। पंजाब बदलाव के लिए तैयार है।’

चंडीगढ़ नगर निगम चुनावों में आम आदमी पार्टी के प्रदर्शन पर, आप नेता राघव चड्ढा ने कहा कि यह केजरीवाल के शासन के मॉडल की जीत है क्योंकि लोग वर्षों से बदलाव के लिए तरस रहे थे।

बीजेपी के मौजूदा मेयर रविकांत शर्मा को भी आप उम्मीदवार दमनप्रीत सिंह ने हराया है. चंडीगढ़ में शुक्रवार को 35 वार्डों के लिए मतदान हुआ। पहले केवल 26 वार्ड थे, जिन्हें इस बार बढ़ाकर 35 कर दिया गया है। इस साल 60.45 फीसदी लोगों ने वोट डाला है.

मौजूदा निकाय में भाजपा का बहुमत था। पिछले नगर निकाय चुनाव में भाजपा ने 20 और शिरोमणि अकाली दल ने एक पर जीत हासिल की थी। कांग्रेस को केवल चार सीटें मिली थीं। भाजपा ने पिछले पांच वर्षों की अपनी उपलब्धियों के आधार पर चुनाव लड़ा है, जबकि कांग्रेस और आप ने भाजपा पर विकास कार्य करने में विफल रहने का आरोप लगाते हुए चुनावी मैदान में प्रवेश किया। दादूमाजरा कचरा भंडारण स्थल की समस्या का समाधान नहीं करने और आवश्यक वस्तुओं के दाम बढ़ाने को लेकर भी दोनों दलों ने भाजपा को घेरा।

परंपरागत रूप से, हर पांच साल में होने वाले इस नगरपालिका चुनाव में भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस के बीच एक करीबी मुकाबला देखा गया है, लेकिन इस बार आम आदमी पार्टी के आगमन के साथ मुकाबला त्रिकोणीय था।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.