गाजियाबाद शहर में मंत्री अतुल गर्ग का विरोध - ‘योगी जी से कोई बैर नहीं, अतुल गर्ग तुम्हारी खैर नहीं
Spread the love

गाजियाबाद। भाजपा के प्रत्याशी घोषित होने के बाद उनके जहां साहिबाबाद विधायक सुनील शर्मा का विरोध शुरू हो गया है, वहीं गाजियाबाद शहर सीट से प्रदेश सरकार में राज्यमंत्री अतुल गर्ग की मुश्किलें भी बढ़ने लगी है। उनके खिलाफ क्षेत्र में पर्चे बंटने शुरू हो गये हैं जिनका शीर्षक है ‘योगी जी से कोई बैर नहीं, पर अतुल गर्ग तुम्हारी खैर नहीं’।

बता दें कि विधानसभा चुनाव की घोषणा से पहले भी अतुल गर्ग का क्षेत्र में विरोध शुरू हो गया था। केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी एवं उप मुख्यमंत्री केशव मौर्या के डासना आगमन के दौरान जब विजयनगर में उनका स्वागत हुआ था उस समय अतुल गर्ग के विरोध के पर्चे फैंके गये थे। अतुल गर्ग को शनिवार को ही भाजपा ने प्रत्याशी घोषित किया है। इसके साथ ही उनके विरोध में पर्चे बंटने शुरू हो गये हैं। जो पर्चे बांटे जा रहे हैं उनका शीर्ष है ‘योगी जी से कोई बैर नहीं, पर अतुल गर्ग तुम्हारी खैर नहीं’।

लाइनपर उत्थान मोर्चा के नाम से वितरित हो रहे पर्चों के माध्यम से अतुल गर्ग से पूछा गया है कि वे यह बतायें कि उनकी व्यक्तिगत घोषणा में से कौन सा काम पूरा हुआ है। इसके साथ ही कहा गया कि जनता स्वास्थ्य जैसी मूलभूत सुविधा से वंचित रही और आप बंद कमरे में क्वारंटीन रहे, बच्चे शिक्षा के मामले में कॉलेज बनाने की आपकी घोषणा का पूरा होने का इंतजार करते रहे, स्वास्थ्य मंत्री रहते आपकी नाक के नीचे रेमडिसिविर ब्लैक हुआ और निजी अस्पतालों ने गरीब आदमी की खाल खींच ली।

इसके साथ ही आरोप लगाया गया कि आपके संरक्षण में आपके प्रतिनिधियों ने गरीब लोगों की जमीनें कब्जाई, आपने कार्यकर्ताओं का अपमान किया, उन्हें अपना बंधुआ मजदूर समझा। इसके साथ ही कहा गया कि हमारा विधायक हमारे क्षेत्र का हो, कोई पंजीवादी और परिवारवादी नहीं चाहिये।

अतुल गर्ग – इस संबंध में भाजपा प्रत्याशी एवं प्रदेश के स्वास्थ्य राज्य मंत्री अतुल गर्ग से बात की गई तो उनका कहना था कि यह उनका बौद्धिक स्तर एवं संस्कार है। चुनाव में जो ऐसा कर रहे हैं उनके ऊपर कोई टिप्पणी नहीं कर रहा।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.