• Sun. Nov 27th, 2022

यूपी विधानसभा चुनाव 2022: गठबंधन को लेकर अखिलेश और केजरीवाल में जल्द होगी मुलाकात! चुनावी समीकरण साधने में जुटी सपा

akhileshyadav

यूपी 2022 विधानसभा चुनाव बस कुछ ही महीने बाद होने वाला है। सभी राजनीतिक दल सत्ता में वापसी के लिए पूरी ताकत के साथ चुनावी मैदान में उतरे हैं। मुख्य विपक्षी पार्टी सपा चुनावी समीकरण को साधने में जुट गई है। हाल ही में दर्जन भर छोटी पार्टियों से सपा ने गठबंधन भी किया है। इसी कड़ी को आगे बढ़ाने का काम सपा प्रमुख अखिलेश यादव कर रहे हैं।

अब खबरें आ रही हैं कि अखिलेश यादव व केजरीवाल की गठबंधन को लेकर जल्द मुलाकात होने वाली है। हालांकि सपा व आप के बीच गठबंधन को लेकर राजनीतिक गलियारों में कयास इसलिए भी लगाए जा रहे थे क्योंकि हाल ही में आम आदमी पार्टी के यूपी प्रभारी संजय सिंह की अखिलेश यादव के साथ दो बार मुलाकात ने राजनीतिक गरमी को और बढ़ा दी थी।

सपा क्यों है आप के लिए बेहतर विकल्प?

आपको बता दें कि आप पार्टी के यूपी प्रभारी संजय सिंह यूपी से संबंध रखते हैं और उन्हें यूपी का सियासी मिजाज अच्छे से पता है। संजय सिंह यूपी की राजनीति में सक्रिय भी है और सरकार पर हमलावर दिख रहे है। ऐसे में पार्टी के भीतर लगातार यह कोशिश चल रही है कि समाजवादी पार्टी के साथ बात बिगड़ने ना पाए। हालांकि अभी तक आप पार्टी की राय यही रही कि यूपी में अगर चुनाव लड़ना है तो किसी पार्टी से गठबंधन करने की जरूरत नहीं है। लेकिन अगर पार्टी गंभीरता से चुनावी मैदान में उतरती है तो उसके लिए एक मजबूत गठबंधन का हिस्सा बनना ही होगा और फिलहाल समाजवादी पार्टी एक बेहतर विकल्प है।

वैसे यूपी की राजनीति में अगर मुख्य विपक्षी दल की बात की जाए तो सपा ही है, जो बीजेपी को सीधे तौर पर टक्कर दे रही है। अगर आप पार्टी की सपा के साथ गठबंधन को लेकर बात बनती है तो निश्चित तौर पर ये अखिलेश ही जीत मानी जाएगी क्योंकि अखिलेश चुनावी समीकरण को साधने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं और सत्ता में वापसी के लिए जबरदस्त मेहनत कर रहे है।

केजरीवाल आ रहे हैं काशी
बता दें कि सपा के साथ आप गठबंधन का हाथ तो बढ़ाई है लेकिन सीटों को लेकर खींचतान जारी है। माना जा रहा है कि आम आदमी पार्टी को गठबंधन में जितनी सीटों की उम्मीद है, सपा पार्टी उतनी सीट देना नहीं चाहती है। इसी पेंच को सुलझाने के अखिलेश यादव और अरविंद केजरीवाल की मुलाकात तय की जा रही है। इसी को लेकर अरविंद केजरीवाल के काशी आने का कार्यक्रम बन रहा है। माना जा रहा है कि दोनों वरिष्ठ नेताओं का इसी दौरान मुलाकात भी संभव है और इसी मुलाकात के जरिए गठबंधन को लेकर बात बनेंगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *