चचेरी बहन से बात करने से रोका तो दो युवकों ने की वारदात, कनपटी में दागी 2 गोली

Spread the love

मेरठ के सरधना के भामौरी गांव में शुक्रवार शाम 21 साल के कृष्णा सोम की सरेआम गोली मारकर हत्या कर दी गई। हत्या की वजह चचेरी बहन के पीछे पड़े लड़के हैं। बताया जा रहा है कि चचेरी बहन को गांव का युवक मोहित परेशान कर रहा था। कृष्णा ने मोहित को बार-बार रोका वो बहन से बात करना बंद कर दे। मोहित नहीं माना इसी से बौखलाकर उसने दोस्त सौरभ संग मिलकर कृष्णा को गोली मार दी। घायल कृष्णा ने अस्पताल में इलाज के दौरान दम तोड़ दिया।

कहासुनी के बाद दो युवकों ने गोली मारी
कृष्णा सोम शुक्रवार की शाम लगभग 6 बजे गांधी आश्रम के सामने हाते में बैठा था। उसी समय उसके पास मोहित और सौरभ दोनों आए। तीनों में किसी बात पर कहासुनी हुई। इसके बाद कृष्णा जाने लगा। तभी मोहित, सौरभ ने उसका पीछा किया। कृष्णा एक दुकान पर कुछ सामान लेने के बाद लौटने लगा। तभी मोहित, सौरभ ने उसे वहीं गोली मार दी।

दो युवकों ने कनपटी में मारी दो गोली
कृष्णा की कनपटी में एक गोली मोहित तो दूसरी सौरभ ने मारी। गोली लगने से घायल कृष्णा खून से लथपथ होकर जमीन पर गिर पड़ा। ये देखकर मोहित, सौरभ दोनों मौके से तुरंत फरार हो गए। जल्दबाजी में उनकी चप्पल वहीं छूट गई। खून से लथपथ कृष्णा को परिवार के लोग उठाकर सीएचसी ले गए, यहां से उपचार कराने के बाद जिला अस्पताल लाए। यहां से आनंद अस्पताल के लिए रेफर कर दिया। वहां पर जाते ही डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है।

कॉन्स्टेबल भर्ती की तैयारी कर रहा था कृष्णा
मृतक कृष्णा के पिता जयसिंह ने बताया- कृष्णा मेरा अकेला बेटा था। वो इंटरमीडिएट की पढ़ाई करने के बाद खेती करता था। साथ-साथ कॉन्स्टेबल भर्ती के लिए कोचिंग कर रहा था। मोहित मेरी भतीीजी, कृष्णा की चचेरी बहन से मोबाइल पर बात करता है। यह बात कृष्णा को पता चली तो उसने इसका विरोध किया था। वो कई बार मोहित से मना कर चुका था कि वो बहन से बात न करे। लेकिन, वो नहीं मानता था। इसी बात पर पहले भी दोनों का विवाद हो चुका था। आज मोहित, सौरभ ने मेरा बेटा मुझसे छीन लिया।

इकलौते बेटे की हत्या कर दी
कृष्णा के पिता जयसिंह ने बताया- मोहित, सौरभ ने पहले भी कृष्णा पर हमला किया था। तब हमने सौरभ के पिता विक्रम से शिकायत की थी। उस समय उसके घरवालों ने भरोसा दिलाया था कि दोबारा से ये लोग ऐसा नहीं करेंगे, मोहित भी बातचीत नहीं करेगा। उसके बाद भी उसकी हरकतों में कोई सुधार नहीं हुआ। तब दोबारा मैंने विक्रम से शिकायत की थी। तब भी हमने उन दोनों युवकों से कुछ नहीं कहा। उसके बाद भी दोनों ने मेरे इकलौते बेटे की हत्या कर दी।

एसएसपी डॉ. विपिन ताडा का कहना है कि पीड़ित की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर लिया गया है, आरोपियों को पकड़ने के लिए पुलिस की दो टीमें लगी हैं।


Spread the love